Wednesday, April 20, 2011

एक अलिखित कविता

DSCN1805
सोचता हूँ
तुम्हें लिख दूँ
एक कविता में,
पर पहली-पहली कुछ लाइनें
मुझसे कोरी ही रह जाएंगी,
और कुछ आखिरी
लाइनें  मैं जानता नहीं
पर इतना जानता हूँ
वो नहीं समाएंगी इस पन्ने में,
और बीच में बस
  पहली और आखिरी
लाइनों की दूरी बयां होगी,
अगर लिखूँ तो
बहुत सी लाइनें तो कटी हुई मिलेंगी तुम्हें
और जो शब्द बच गए
पता नहीं 
कब तक रुकेंगे
लाइनों पर,
बहुत से शब्द तो मेरे पास नहीं
तुमने ही रखे  हैं,
और पन्ना भी
बस एक ही है मेरे पास...
...रजनीश (19.04.11)

14 comments:

वन्दना said...

आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
कल (21-4-2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

http://charchamanch.blogspot.com/

Dr (Miss) Sharad Singh said...

कोमल भावनाओं की सुन्दर अभिव्यक्ति ...
हार्दिक बधाई....

mridula pradhan said...

बहुत से शब्द तो मेरे पास नहीं
तुमने ही रखे हैं......behad bhawpurn,bahut achchi lagi.

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

गहन भावों की सुन्दर अभिव्यक्ति ...

anupama's sukrity ! said...

bhavon ki komal abhivyakti ...
sunder rachna .

udaya veer singh said...

aapki alikhit kavita ek likhit dastavej ban rahi hai .saral shabd chayan prabhavkari hain ,sunder kathy,
va rachana . shukriya ji .

वाणी गीत said...

उनके पास रखे शब्द और खाली पंक्तियाँ ...
बन तो गयी एक कविता , कहा रही अलिखित ...
बहुत कह गयी ये अनकही !

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

कोमल भावों से सजी रचना ..एक ही पन्ना काफी है लिखने के लिए ..

nivedita said...

बेहतरीन लिखा है ......नि:शब्द कर दिया !

रश्मि प्रभा... said...

बहुत से शब्द तो मेरे पास नहीं
तुमने ही रखे हैं,
और पन्ना भी
बस एक ही है मेरे पास... aur us ek panne me bahut kuch hai

sushma 'आहुति' said...

bhut gahraayi hai apki rachna me...

अनामिका की सदायें ...... said...

komal ehsaso bhari rachna.

Avinash Mishra said...

Subhan allah... Likhte rahe isi tarah.. Sir jab kabhi wakt mile to humare blog bhi padhare... Kuch thoda bahut likhta hun , aap sb ka ashirwad chahiye bs... Naya hun. avinash001.blogspot.com

induravisinghj said...

Beautiful thoughts you have presented amazingly....

Recent Posts

पुनः पधारकर अनुगृहीत करें .....