Thursday, May 19, 2011

सहारे- यादों के

DSC00494
वो मैं नहीं था
जिसने बर्फीली वादियों में
सुनहली किरणों से चमकती
ज़ुल्फों के साये में
गाया था वो गाना
पर जब भी कानों को
मिलती है उस गाने की आहट
तो पाता हूँ दिल की गहराइयों में ,
मैं गा रहा होता हूँ
कहीं दूर  वादियों में,

वो भीनी सी खुशबू
अब भी है जेहन में
पर उस पल तो नहीं थी
तुम्हारे आस पास
जब तुम्हें देखा था जाते हुए
पता नहीं कब जुड़ गई
तुम्हारी यादों से
जब भी सैर करती
आती है वो खुशबू कहीं से
तुम्हें साथ लिए रहती है

एक आवाज़ जब भी आती है
अतीत में ले जाती है
कभी कोई लम्हा , कभी तो कोई दिन ही
कहीं पहले गुजारा हुआ  लगता है
कभी बचपन की किसी तस्वीर
से बाहर आया हुआ ....

एक स्वाद,
कोई पुरानी कहानी
सुना जाता है
एक स्पर्श और एक पुराना ख़्वाब ...
कभी आईने में देखने पर
आ जाती है अपनी ही याद
खालीपन भी जोड़ लेता है कुछ  यादों को
जब एक अहसास के लिए
जगह बनती है कभी दिल में
तो उससे जुड़ा
टुकड़ा , दिल का चैन
याद आ जाता है 
लोगों की भारी भीड़ में भी ...

यादें सीधी नहीं जुड़ती हमसे
उन्हें जरूरत होती है
एक सहारे या एक बैसाखी की ,
छोटी सी खाली जगह
जो मिल जाए तो फिर से
एक पुराना लम्हा
जी उठता है ...

अब मुझे याद रखना
शायद , तुम्हारे लिए
कुछ आसान हो जाए ...
...रजनीश ( 18.05.11)

6 comments:

sushma 'आहुति' said...

bhut bhut khubsurat shabd rachna dil ke bhaavo ko shabdo me utar dia apne....

Patali-The-Village said...

बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति| धन्यवाद|

रश्मि प्रभा... said...

यादें सीधी नहीं जुड़ती हमसे
उन्हें जरूरत होती है
एक सहारे या एक बैसाखी की ,
छोटी सी खाली जगह
जो मिल जाए तो फिर से
एक पुराना लम्हा
जी उठता है ...
barish ki ek nanhi si bund bhi yaadon ka sailaab liye aati hai

Dr (Miss) Sharad Singh said...

एक आवाज़ जब भी आती है
अतीत में ले जाती है
कभी कोई लम्हा , कभी तो कोई दिन ही
कहीं पहले गुजारा हुआ लगता है
कभी बचपन की किसी तस्वीर
से बाहर आया हुआ ....


बहुत सुन्दर एवं मर्मस्पर्शी रचना !
हार्दिक शुभकामनायें एवं साधुवाद !

रश्मि प्रभा... said...

अपनी एक रचना परिचय पता ब्लॉग लिंक तस्वीर के साथ उदंती पत्रिका के लिए भेजिए

Anita said...

यादें सीधी नहीं जुड़तीं हमसे...सचमुच कुछ याद आते ही कितना कुछ और याद आ जाता है, सुंदर कविता के लिये बधाई!

Recent Posts

पुनः पधारकर अनुगृहीत करें .....